कार्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व
विकास के लिए युवाओं को सक्षम बनाना महत्वपूर्ण है। इस विकास को आगे बढ़ाने और समाज के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने के लिए, हमने कुछ खास कार्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्वों संबंधी पहल की है। इनके बारे में अधिक जानने के लिए स्क्रॉल डाउन करें!
कार्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व
विकास के लिए युवाओं को सक्षम बनाना महत्वपूर्ण है। इस विकास को आगे बढ़ाने और समाज के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने के लिए, हमने कुछ खास कार्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्वों संबंधी पहल की है। इनके बारे में अधिक जानने के लिए स्क्रॉल डाउन करें!
ओवरव्यू/अवलोकन
बिरला व्हाइट दुनिया में सीमेंट के 10 शीर्ष उद्यमियों में से एक है। पिछले कई वर्षों से, हमने अनेक मूल्य-वर्धित उत्पाद प्रस्तुत किए हैं और एक अग्रणी व्हाइट सीमेंट उद्यमी के रूप में अपनी जगह बनाई है।

हमें विस्तार की अपनी यात्रा में सफलता के साथ पुरस्कृत किया गया है। इसलिए, हमने अपने सीएसआर कार्यक्रमों के दायरे में विस्तार करके, समाज के प्रति अपना आभार व्यक्त करने का निर्णय किया है। हमने ग्रामीण विकास कार्यक्रम और विभिन्न क्षेत्रों में सेवाएं आरम्भ की हैं। इनमें शिक्षा, स्वास्थ्य और स्वच्छता, महिला सशक्तीकरण, सूक्ष्म वित्त (माइक्रोफाइनेंस), वहनीय आजीविका, पशुधन विकास और अवसंरचना विकास शामिल है।s
विज़न
"िन समुदायों में हम कार्य करते हैं, उनके सामाजिक और आर्थिक विकास में सक्रिय योगदान करना। ऐसा करके, हम देश के मानव सूचकांक को बढ़ाते हुए, समाज के कमज़ोर वर्गों के लिए एक बेहतर, वहनीय जीवन प्रणाली का निर्माण करने की आशा करते हैं।"
- श्रीमती राजश्री बिरला, अध्यक्ष- आदित्य बिरला सेंटर कम्यूनिटी इनिशिएटिव एंड रूरल डेवलमेंट
महत्वपूर्ण फोकस एरिया
Health care

स्वास्थ्य देखभाल

शिक्षा

शिक्षा

वहनीय आजीविका

वहनीय आजीविका

अवसंरचना विकास

अवसंरचना विकास

सामाजिक कल्याण

सामाजिक कल्याण

Health care

स्वास्थ्य देखभाल

स्वास्थ्य एक ऐसा महत्वपूर्ण सूचक है जो किसी भी देश के एचडीआई (मानव विकास सूचकांक) के विकास को प्रभावित करता है। वर्तमान में, भारत की कुल जनसंख्या में से 68% लोग गांवों में रहते हैं, और उनमें से आधे गरीबी रेखा से नीचे जीते हैं। इन लोगों को स्वास्थ्य देखभाल की बेहतर और आसान एक्सेस पाने के लिए संघर्ष करना पड़ता है।

स्वास्थ्य संबंधी मुद्दे जिनका वे संघर्ष करते हैं, उनमें संचारी और गैर-संचारी रोग शामिल हैं। इनमें मलेरिया, मधुमेह, फ्लू आदि कुछ रोग शामिल हैं। ग्रामीण भारत में प्रसवोपरांत मातृत्व रूग्णता एक गंभीर समस्या है, और इसके कारण मातृत्व मृत्यु होती है।

इनमें से अधिकांश समस्याओं का जन्म शिक्षा और संसाधनों के अभाव के कारण होता है। इसलिए, इस अंतर को न्यूनतम करने के लिए, हमने विभिन्न ग्रामीण समुदाय के लिए विभिन्न स्वास्थ्य देखभाल सेवा सेट-अप शुरू किए हैं। इनके साथ, हम सहस्राब्दी विकास लक्ष्यों (डब्ल्यूएचओ) जैसे बाल मृत्यु दर को कम करना, मातृत्व स्वास्थ्य में सुधार करना, मलेरिया, मधुमेह, एचआईवी/एड्स आदि जैसे रोगों का सामना करना, को पूरा करने का उद्देश्य रखते हैं।
Education

शिक्षा

भारत में विश्व भर में सबसे अधिक युवा लोग रहते हैं। हमारे राष्ट्र का भविष्य इन्हीं के कंधों पर निर्भर करता है और इसलिए, यह महत्वपूर्ण है कि उन्हें गुणवत्ता शिक्षा तक पहुंच प्रदान की जाए। भारत में अधिकांश युवा ग्रामीण परिवेश से आते हैं, जहां पर शिक्षा तक पहुंच पाना एक चुनौती है।

हमारी सीएसआर पहल के माध्यम से, हम भारत भर में छात्रों को प्रोत्साहित और सशक्त बनाने के लिए प्रयासरत हैं। हम सक्रिय रूप से छात्रवृत्तियां देते हैं, शैक्षणिक उपलब्धियों को मान्यता प्रदान करते हैं, प्रतिभा विकास करते हैं, गतिविधियां और कार्यशालाएं आयोजित करते हैं। हम छात्रों की पीढ़ी को उनके द्वारा सामना की जा रही कमियों के बावजूद शैक्षणिक उत्कृष्टता प्राप्त करने की अभिलाषा रखने के लिए अभिप्रेरित करना चाहते हैं।
Sustainable Livelihood

वहनीय आजीविका

जीवन यापन के बेहतर मानक को प्राप्त करने के लिए हम वहनीय आजीविका के महत्व को समझते हैं। हमारे ग्रामीण सीएसआर के माध्यम से, हम लोगों की भिन्न भिन्न योग्यताओं का विकास और दोहन करने के लिए प्रयासरत हैं ताकि आत्म-निर्भरता का सृजन किया जा सके।

महिला स्व-सहायता समूह, कंप्यूटर प्रशिक्षण, ब्यूटी कोर्स, मोटर रिवाईंडिंग प्रोग्राम, तथा टेलरिंग केन्द्र जैसे अनेक कदमों के साथ, हम अनेक व्यक्तियों की सहायता कर रहे हैं ताकि वे अपने लक्ष्यों को पहचान सकें, उन्हें प्राप्त कर सकें और आजीविका कमा सकें।
Infrastructure Development

अवसंरचना विकास

हमने विभिन्न क्षेत्रों में अपने संयंत्रों के समीप ही सीएसआर अंत:क्षेपों की शुरूआत की है। इसके परिणामस्वरूप बेहतर, अधिक स्थायी अवसंरचना का विकास हुआ है। इसके साथ-साथ, इससे जीवन यापन के मानक और इन स्थानों में जीवन की सामान्य गुणवत्ता में सुधार हुआ है।

खड़िया खंगर में सड़कों का निर्माण, धनाप्पा में समुदाय केन्द्र का जीर्णोउद्धार, मेरासिया में जल-मल निकासी प्रणाली की स्थापना आदि इसके कुछ उदाहरण हैं। हमारे प्रयासों के माध्यम से, हम अधिक से अधिक अवसंरचना परियोजनाओं पर कार्य जारी रखने और साथ ही और अधिक लोगों की सहायता करने की आशा रखते हैं।
Social Welfare

सामाजिक कल्याण

बिरला व्हाइट वर्तमान में एक जाना-पहचाना नाम है क्योंकि समाज हम पर विश्वास करता है। इसलिए, हम समाज के प्रति भी अपना कर्तव्य का निर्वहन करना चाहते हैं और जीवन को समृद्ध बनाना चाहते हैं।

हमारे विभिन्न कल्याण कार्यक्रमों के माध्यम से, हम स्वास्थ्य देखभाल से संबंधित मुद्दों, शिक्षा समस्याओं का समाधान करते हैं और हमारे आसपास रहने वाले लोगों के समग्र जीवन में सुधार करने के लिए ध्यान केन्द्रित करते हैं। हम सामाजिक मेलजोल, ज़रूरतमंद लोगों को अनिवार्य वस्तुओं का वितरण, आधार कार्ड कैम्पों का आयोजन और पौधारोपण अभियान का भी आयोजन करते हैं। हम आशा करते हैं कि अपने प्रयासों के माध्यम से, हम समाज के उत्थान में योगदान करते हैं।
कवर किया गया भूगौलिक क्षेत्र
कवर किए गए क्षेत्र: राजस्थान राज्य के जोधपुर और नागपुर जिलों के भोपालगढ़ और मर्ता ब्लॉक
कवर किया गया भूगौलिक क्षेत्र